परम पूज्य स्वामी

स्वामी श्री गोविन्ददेव गिरिजी महाराज

का 75वाँ जन्मोत्सव

गीताभक्ति अमृत महोत्सव

दि. 4 से 11 फरवरी 2024 वारकरी शिक्षण संस्था के सामने, आलंदी, पुणे (महाराष्ट्र)

गीताभक्ति अमृत महोत्सव

॥ आमन्त्रण ॥

हमारी पुण्यभूमि भारत को संतों, ऋषियों और तपस्वियों ने अपनी भक्ति, साधना एवं लोककल्याण के तप से सींचा है। अनादि काल से चली आ रही इस संत-परंपरा ने भारत का निर्माण भी किया है एवं समय-समय पर हमारे धर्म और संस्कृति की रक्षा भी की है। पूज्य स्वामी गोविन्ददेव गिरि जी महाराज भारत की इसी दिव्य परंपरा के वाहक हैं। पूज्य स्वामीजी का संपूर्ण जीवन धर्म-संस्कृति-समाज और राष्ट्र को ही समर्पित रहा है।

पूज्य स्वामीजी का जन्मोत्सव प्रतिवर्ष ‘गीताभक्ति दिवस’ के रुप में मनाया जाता है। वर्ष 2024 में पूज्य स्वामीजी अपने दिव्य जीवन के ७५ वर्ष पूर्ण कर रहे हैं। अतः दिनांक 4 फ़रवरी से 11 फ़रवरी 2024 को पुणे के निकट आलंदी में पूज्य स्वामी गोविन्ददेव गिरि जी महाराज का जन्मोत्सव “गीताभक्ति अमृत महोत्सव” के रूप में मनाया जा रहा है।

आलंदी वह दिव्य तीर्थस्थान है जहाँ संत ज्ञानेश्वर महाराज की संजीवन समाधि है। पवित्र इन्द्रायणी नदी के किनारे बसे इस तीर्थ को अनेक संतों ने अपने चरण-रज से पावन किया है। पूज्य स्वामीजी संत ज्ञानेश्वर महाराज को अपने गुरु के रूप में मानते हैं। पूज्य स्वामीजी का अमृत महोत्सव तीर्थराज आलंदी में मनाया जाना हम सभी के लिए अत्यंत हर्ष का विषय है।

इस अष्टदिवसीय महोत्सव में अनेक संत एवं गणमान्य महानुभाव उपस्थित रहेंगे। अनेक स्मरणीय वैदिक, सांस्कृतिक एवं साहित्यिक कार्यक्रम यहाँ प्रस्तुत किए जाएँगे।

अपने जीवन के एक-एक क्षण को धर्म-रक्षा एवं राष्ट्र निर्माण के लिए समर्पित कर देने वाले पूज्य स्वामी गोविंददेव गिरि जी महाराज आदि शंकराचार्य से लेकर स्वामी विवेकानंद तक की संत परंपरा के उज्ज्वल प्रतीक हैं। हम सभी की यह दृढ़ आस्था है कि पूज्य स्वामीजी का जन्मोत्सव किसी एक संत का नहीं बल्कि भारत की दिव्य संत परंपरा के पूजन का अवसर है। ऐसे परम तपस्वी संत के जन्मोत्सव का साक्षी बनने से हमारा जीवन भी उसी प्रकार प्रकाशित हो जाएगा जैसे कि सूर्य के तेज से चंद्रमा चमकता है। अत: आप सभी से अनुरोध है कि आप इस ऐतिहासिक आयोजन में सपरिवार एवं अपने इष्ट मित्रों के साथ सहभागी हों।

– विनीत –

  • महर्षि वेदव्यास प्रतिष्ठान
  • गीता परिवार
  • श्रीकृष्ण सेवा निधि
  • सन्त श्री ज्ञानेश्वर गुरुकुल

– सहयोगी संस्थाएं –

  • श्री ज्ञानेश्वर महाराज संस्थान, आलंदी
  • गाथा मंदिर, देहू
  • वारकरी शिक्षण संस्था, आलंदी
  • संत गजानन महाराज संस्थान, आलंदी
  • श्री भैरवनाथ ग्रामदेवता ट्रस्ट, आलंदी
  • श्री नृसिंह सरस्वती मठ, आलंदी
  • एवं समस्त आलंदी नगरवासी
Events
I am attending
Volunteer
Support
Back